ओरल सेक्स की AOI कुंजी

अनुवाद: श्रुति भट्ट

चित्रण द्वारा आरु बोस

ओरल सेक्स – नाम सुन के ऐसा लगता है ना के दो मुंह के बीच सेक्स की बात चल रही है। पर नहीं। (दो मुंह के बीच सबसे मज़ेदार काम तो किसिंग है।) ओरल सेक्स का मतलब है अपने साथी को खुद के मुख से चरम सुख देना। फिर चाहे जीभ लपलापाओ या होंठ, अपने मुंह के ज़रिए, अपने साथी के जननांगों को छूने, चूमने, चूसने, वहां धूम मचाने के लिए।

तो किस सोच में पड़ गए जनाब? जानना चाहते हो कि तुम कैसे अपने साथी की तेज़ चलती सांसों को आहों में बदल सकते हो? फ़िक्र नॉट। हम हैं ना।

सभी के लिए ओरल सेक्स के फंडे

चलिए अब कुछ बेसिक चीज़ों से आपको रूबरू कराते हैं –

प्रोटेक्शन का इस्तेमाल – यार मेरे, याद रखो, गुप्त रोग ओरल सेक्स करने से भी फ़ैल सकते हैं। तो जब अपनी प्रेमिका को चरम सुख की ओर पहुंचाना शुरू कर रहे हो, डेंटल डैम इस्तेमाल करना मत भूलना। और उसी तरह, अपने प्रेमी के साथ कंडोम इस्तेमाल करना याद रखना।

(डेंटल डैम पतले, महीन रबर के चौकोर टुकड़े होते हैं, जो मुंह और योनि के बीच रखे जाते हैं। अगर तुम्हें बाज़ार में नहीं मिल रहा है तो घबराओ मत, बस आराम से घर पर ही अपने लिए डेंटल डैम बना लो।)

साथी की पसंद/नापसंद का खास ख्याल – अगर तुम जिसके साथ हो, उन्हें मुख के सुख से किसी भी तरह की परेशानी है, या ओरल सेक्स उनको भाता नहीं है, तो उन्हें प्रेशर मत करो।

साफ सफाई सबसे ज़रूरी – अपने और अपने साथी की सेहत का ध्यान रखना ज़रूरी है, तो इसीलिए जननांगों को हमेशा साफ सुथरा रखना। इससे ना सिर्फ तुम दोनों का मज़ा बढ़ेगा, बल्कि तुम्हारे साथी को कंफर्टेबल भी लगेगा। इस टॉपिक पे कोई भी मदद की ज़रूरत हो, तो बिना झिझके इधर जाओ।

अपनी योनि में मुख का सुख लेने से पहले ये फंडे देखो –

चार बहुत कॉमन पोजिशन जो हर बार कारगर हैं:

  • सीधा खड़ा हो के, एक टांग किसी मेज़ या कुर्सी या कोई और मज़बूत सतह पर चढ़ाना। इस पोजिशन में सतह की हाइट यानी ऊंचाई बहुत देखभाल के चुनना, और बाथरूम के हिलते डुलते वाशबेसिन से तो प्लीज़ दूर ही रहना।
  • अपनी टांगें फैला कर बैठ या लेट जाओ, जैसे भी तुम कंफर्टेबल हो। इस पोजिशन से निशाना हमेशा ठीक लगेगा और तुम्हें थकान भी ना होगी।
  • अपने साथी के मुंह पर बैठो। अरे डरो मत! उनको पीठ के बल लिटा के, उनके चेहरे के उपर कुछ इस तरह से बैठो के तुम्हारा भार खुद ही के घुटनों पे रहे। इससे ना सिर्फ निशाना ठीक बैठेगा, बल्कि तुम्हारे साथी को बेहतरीन नज़ारा भी दिखेगा। और तो और तुम अब ड्राइविंग सीट में भी हो, तो बस जो अच्छा लगे, उस हिसाब से उपर नीचे, दाएं बाएं, आगे पीछे, सब आज़मा डालो। जब लगे कि मज़ा नहीं आ रहा, तो आसानी से उतर जाओ । पोजिशन एक, फायदे अनेक।
  • सूरमा- 69, नाम तो सुना ही होगा। एकमात्र पोजिशन जिस में तुम और तुम्हारा साथी एक साथ एक दूसरे को मुख का सुख देने के काबिल हों। शुरू करने के लिए, एक दूसरे की उलटी दिशा में करीब करीब लेटो। अब उनका मुंह तुम्हारे जननांग, तुम्हारा मुंह उनके जननांग। या फिर ये भी कर सकते हो, कि अपने साथी को पीठ के बल लिटा कर, तुम उनके ऊपर कुछ इस तरह से बैठो के तुम्हारे जननांग ठीक उनके मुंह के पास हो, और उनके तुम्हारे मुंह के। कन्फ्यूज़िया गए? इस नंबर को ध्यान से देखो – 69, बस अब खुद के और उनके शरीर से इसी नंबर को बनाने की कोशिश करो। सिम्पल।

तो तुम्हारे साथी की योनि है, और तुम उसमें डूबे हो! अब आगे क्या है होनी? आओ चलो देखते हैं।

सबसे पहले भूगोल को जानो। कहीं भी जाने से पहले सबसे ज़रूरी है वहां का भूगोल जानना। (औरतों के जननांगों को बेहतर समझने के लिए हमारा ये क्विज लेना मत भूलना!) कई लोग उंगलियों से ये सफर शुरू करते हैं, ताकि अपने साथी की पसंद नापसंद बेहतर समझ सकें।

आराम से बाबा! याद रखना बहुत ही संवेदनशील इलाका है, तो ध्यान से आगे बढ़ना। अगर चेहरे पे दाढ़ी मूंछ या हलके बाल भी हैं, तो तुम्हारी हल्की सी चूक उनको चोट पहुंचा सकती है।

फिसलन की ज़रूरत है। अगर तुम्हारे वहां पहुंचने तक सब कुछ गीला नहीं हुआ है, तो ल्युब इस्तेमाल करना मत भूलना, खास कर कि अगर तुम्हारी उंगलियां भी इस खेल में शामिल हैं। तुम किसी भी दवा की दुकान से लयुब खरीद सकते हो, जो सब कुछ मक्खन की तरह चिकना करने में बहुत काम आता है।

ये भी, वो भी, साथ साथ करो। माना के हम मुख से सुख की बात कर रहे, पर इसका मतलब ये कतई नहीं के तुम सिर्फ अपने होंठ या जीभ चलाओ। खुल के उंगलियां, नाक, गाल, खिलौने – सब इस्तेमाल में लाओ। साथी की खुशी जिससे, बस इस्तेमाल कर डालो। 

भगशेफ( clitoris) को ढूंढ निकालो।  अधिकतर ये एक छोटे से कवर से ढका रहता है जिसे क्लिटोरल हुड कहते हैं, यानी भगशेफ का टोप। ओरल सेक्स के समय एक तकनीक ये हो सकती है कि तुम अपने एक हाथ के अंगूठे से इस हुड को हल्का सा पीछे करो। अब तुम क्लिट को साफ साफ देख पाओगे। बस फिर क्या, जीभ हल्की हल्की घुमाओ फिराओ, और अपने साथी की आहें चढ़ाओ।

प्यार ही प्यार, बेशुमार। माना क्लिट/भगशेफ एक जाना पहचाना सेंसिटिव स्पॉट है, पर इसका मतलब ये थोड़ी ना है के तुम बाकी जगहों पे अपने प्यार की बारिश ना करो। सच तो ये है, कि लगातार भगशेफ पे ध्यान फोकस करना तुम्हारे साथी के लिए बेहद असहज और दर्दभरा हो सकता है। तो सम्भाल के – फेरने के अलग अलग तरीके, अलग अलग प्रेशर, सब एक्सपेरिमेंट करो। और पूरी की पूरी योनी पे फोकस करो। 

उनके रिएक्शन पर ध्यान दो । उनकी आंहों पे ध्यान दो। किस जगह छूने से उनकी सांसें तेज़ हो जाती है? किस तरह से छूने पे वो कसमसाने लगते हैं? तेज़ या धीरे? हल्का या भारी? ध्यान दो और लगे रहो ।

काहे की जल्दी है रे। सीमा पर बने रहना भी एक तकनीक है l अपने साथी को चरम सुख के जितना करीब पहुंचा सकते हो, पहुंचाओ। और फिर कुछ सेकंड रुक जाओ। और और फिर आगे बढ़ो । बस यही करते रहो। जैसे सस्पेंस बढ़ा रहे हो l कई दफा, कई लोगों के लिए सीमा पर बने रहने की ये तकनीक( अंग्रेज़ी में इसे edging कहते हैं),  चरम सुख को और भी कई गुना मज़ेदार बना देती है।

जी माने जीनियस।  अरे बिस्कुट नहीं यार, ये ‘जी’ है जी स्पॉट। योनि के अंदर छुपा जी स्पॉट पर बड़ी बहस है:  कई लोग मानते ही नहीं कि ऐसी कोई चीज़ है भी। और बहुत सारे मानते हैं कि जी स्पॉट पर पहुंचना माने टकाटक चरम सुख। सब की अपनी पसंद नापसंद है, पर अगर तुम अपने साथी का जी स्पॉट ढूंढ़ना चाहते हो, तो हलके से एक उंगली योनि के अंदर डालो। हथेली ऊपर की तरफ रखना। और अब उंगली को अंदर ही हलके से मोड़ो, ताकि तुम योनि की ऊपरी दीवार को आहिस्ता रगड़ सको। जैसे तुम किसी को अपनी तरफ उंगली के इशारे से बार बार बुला रहे हो l  

अपने लिंग को मुख का सुख लेने से पहले ये फंडे देखो-

कुछ लोग ओरल सेक्स से पहले खूब सारी किसिंग और फोरप्ले करना पसंद करते हैं। कुछ लोग ओरल सेक्स को ही फोरप्ले की तरह करना पसंद करते हैं। 

तो सबसे अधिक पसंद की जाने वाली पोजिशन कुछ इस तरह से हैं –

  • बिस्तर पे पीठ के बल लेट जाओ कुछ इस तरह से के तुम्हारा सिर एकदम किनारे पे हो। तुम्हारा साथी बिस्तर के पास खड़ा रहेगा। इस पोजिशन में डीप थ्रोट(deep throat- यानी शिश्न को कंठ की गहराइयों तक लेना)

 आराम से हो पाता है । कुछ लोगों को ये बहुत अच्छा लगता है। इसी पोजिशन में अगर तुम अपना सर 90 डिग्री घुमा लो और अपना शरीर भी हल्का सा घुमाओ, तो बस एक नई पोजिशन बन गई। 

  • पीठ के बल लेटे रहो और तुम्हारा साथी घुटनों के बल बैठ के तुम्हारे लिंग से खेलता रहेगा। सबसे सस्ता, सुंदर, टिकाऊ।
  • एक कुर्सी या बिस्तर के किनारे बैठ जाओ। तुम्हारा साथी घुटनों के बल फर्श पे रहेगा।
  • चहेता, 69। जहां तुम्हारा मुंह, उनके जननांग ; उनका मुंह, तुम्हारे जननांग।

तो खूब सारे मज़े के लिए तैयार? एक्शन का टाइम आ गया है l

चुपके चुपके, हौले हौले। कोई भी नई चीज़ धीरे धीरे शुरू करो। अपने साथी के हाव भाव को ध्यान से देखो कि उन्हें क्या अच्छा लगता है, क्या ठीक ठाक और क्या चीज़ बिल्कुल नहीं पसंद। 

दांत बिल्कुल नहीं। अपने दांतों को अपने साथी के शिश्न से हमेशा दूर रखो। अगर वो चाहते हैं कि तुम दांत इस्तेमाल करो, तभी करो।

टिप पे ध्यान दो। किसी भी शिश्न का सर या टिप यानी सबसे ऊपर का भाग सबसे ज़्यादा सेंसिटिव होता है। इस पे खास ध्यान दो। थोड़ी ज़बान लगाओ, हल्के प्रेशर से चूसो, या अपने होंठों से टिप और शाफ़्ट के बीच थोड़ा समय बिताओ। समझो के लॉलीपॉप चूस रहे हो (पर ध्यान से, भूख ना लग जाए)। 

शाफ़्ट/छड़ पे भी ध्यान दो। शाफ़्ट यानी के टिप को छोड़ कर बाकी बचे लिंग का छड़ । छड़  पे हाथ और मुंह इस्तेमाल करना सबसे सही रहता है। अपनी हथेली से शाफ़्ट को हल्का, आराम से पकड़ो और धीरे धीरे हाथ ऊपर नीचे करो। (धीरे धीरे शुरू करके अपनी स्पीड बढ़ाना। लेकिन कुछ भी करने से पहले अपने साथी से पूछो कि उन्हें क्या सही लग रहा है, क्या नहीं)। तुम अपनी ज़बान से भी शाफ़्ट को हल्का चाट सकते हो। 

फ्रेनुलम भी ढूंढ लो। फ्रेनुलम यानी चमड़ी का छोटा सा बंध  जिसे क्षुद्रबन्ध भी कहते हैंl ये शिश्न के नीचे की तरफ मांस का एक हिस्सा होता है जिससे फोर स्किन को लिंग की टिप से हटाने में आसानी रहती है। ये बहुत ही अधिक सेंसिटिव इलाका है, और यहां हल्की उत्तेजना भी चरम सुख तक जल्दी पहुंचने में मदद करती है। 

बॉल्स से तो खेलो यार। बॉल्स यानी टेस्टिकल्स यानी अंड कोश। एक हिस्सा जिस पर अधिकतर लोग ध्यान नहीं देते। यहां अगर इन्हें ध्यान से उत्तेजित किया जाए, तो ये एक गज़ब मज़ा देते हैं। तुम इन्हें हलके से चूस सकते हो या चाट सकते हो, एक एक करके या दोनों को एक साथ भी अपने मुंह के अंदर लेने की कोशिश कर सकते हो। अपने हाथ में उनको धीरे से को और हल्का सा प्रेशर लगाओ -और जब वो तुम्हारे मुंह में हैं तो अपनी ज़बान से उन्हें गुदगुदाओ। 

यूं लगता है जैसे लिंग को योनि में डालने के अलावा भी सेक्स करने के अलग अलग मज़ेदार और रोचक तरीके हैं l और उनमें भी उतना ही मज़ा है, हो सकता है ,ज़्यादा भी l सही से करना आना चाहिए, यानी बढ़िया तकनीक अपनानी चाहिए l और अब जबकि हम आ गए हैं, तो आपको वो भी मिल गयी है l

 

 

Comments

comments

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *