कैसे सुनिस्चित करें कि आप लीचड़ नहीं हो रहे – एजेंट्स ऑफ़ इश्क़ की टिप्पणियाँ महिलाओं के लिए

अनुवाद: ज्योति राठौर

एक बार एक जानी मानी पिक्चर में  हीरोइन, हीरो से कहती है, “मत भूलो कि मैं  भी सिर्फ एक लड़की हूँ, जो एक लड़के के सामने खड़ी है और उससे प्यार की उम्मीद कर  रही है|” असल में हीरोइन, हीरो को मनाने की कोशिश कर रही है कि,भले ही वो एक प्रसिद्ध फ़िल्मी सितारा है और  हीरो  बस एक किताबों की दूकान का मालिक है, पर उसकी भी कुछ साधारण सी रोमांटिक ख्वाइशें  हैं|

कभी कभार हम लड़कियाँ, लड़कों के सामने खड़ी हो कर,  जरूरी नहीं  उनसे सिर्फ प्यार  ही चाहती हैं , लेकिन प्यार के अलावा भी कुछ चाहती हैं जैसे –  गर्माहट भरा चुम्बन, 3 दिन बिना बिस्तर से निकले लगातार हौले हौले सेक्स करना , आज रपट जाएँ कि  2  घंटे हूबहू नक़ल – हो सकता है, लड़कियों कि इच्छाओं की सूची बहुत लम्बी हो ,पर हमें कहीं से तो  शुरुवात करनी ही होगी, सही ?

आपको पहले कदम से शुरुवात करनी होगी.

क्या महिलाओं का इश्क के मामले में पहला कदम लेना सही है ?

छोटा उत्तर – हर तरह से

लम्बा उत्तर-ये आपको बिलकुल भी आक्रामक,बेक़रार और अनसेक्सी नहीं दिखाता  है |कुछ महिलाओं को डर लगता है कि उनके पहले कदम उठाने पर पुरुष उन्हें गलत  समझ लेंगे|  पहली बात तो  यह है, अगर वो इस तरह का पुरुष है, जो आपके बारे में नकारात्मक राय बनाता है सिर्फ इसीलिए क्योंकि आपने उसमे सच्ची दिलचस्पी दिखाई है तो वो दूसरी चीज़ों के बारे में किस तरह सोचता होगा | सोच लिया, क्या आप चाहेंगी कि ऐसे लड़के पर आपका दिल आ जाए ? नहीं ना?

अगर आप अभी भी नहीं मानी हैं , आपको थोड़ा और यकीन दिलाया जाए| ये देखिये – हमने जिन पुरषों से बात की, ज्यादातर उन्होंने कहा कि जब किसी महिला ने पहला कदम उठाया,उन्हें अच्छा लगा |  वो कहते हैं कि पुरषों के ऊपर एक दबाब सा रहता है हमेशा पहला कदम उठाने का| पर महिला जब पहला कदम उठती है, तो पुरूषों को आकर्षक और चाह से भरा महसूस करवाती है,और उनपर से वो दबाब हट जाता है | जब ऐसा होता है, वो कहते हैं ये बड़ा उत्साह और राहत भरा होता है|

लोगों को ये जान कर बड़ा अच्छा लगता है कि कोई उन्हें पसंद करता है  और ये भी उम्मीद कर सकते हैं कि उनका जवाब भी सरल ही होगा, तब भी,  अगर वो आपके बारे में वैसा नहीं सोचते | मुंबई की 34  वर्षीय  स्यान्न, फ्रीलांसर लेखिका हैं| वो कहती हैं, बड़े होने और परिपक़्वता के साथ  उन्हें ये एहसास हो गया है कि, अगर कोई आपको वापस पसंद नहीं करता है तो ये भी ठीक है|

ये सत्य है कि इंकार का सामना वयस्कता का हिस्सा है पर मुमकिन इंकार का डर, आपको भविष्य  में पहल करने से ना रोके |

पर चीपड़ या लीचड़ -क्रीपी-  ना बनें | देखिये, लोगों को पुरूषों के बारे में अजीब धारणाएं हैं जैसेकि उन्हें हमेशावो’ चाहिए ( मतलब सेक्स,छेड़ना और रिश्ते बनाना) इसलिए महिलाओं को  जो कहना है, उनको आगे बढ़कर धड़ल्ले से कह देना चाहिए |जब भी कहने का मन किया और लड़का जल्दी से शिकार हो जायेगा| पर  ये लड़कों के बारे में सोचने का बड़ा चीप तरीका है  और पूरी तरह  से असत्य भी |पुरुष सेक्स करने की  मशीन तो नहीं है, जो हमेशा चालू रहती है और हो सकता है उसे सेक्स नहीं चाहिए,  उसी वक्त  नहीं चाहिए होता है या आपके साथ नहीं या बिलकुल भी नहीं | ये आप पर है कि आप भापें  कि क्या चल रहा  है, बिना लीचड़  बने |

पहला चरण-क्या आप पहला कदम लोगे ?

क्या आप काम की  सेटिंग में हैं? क्या आप एक व्यवसायी/प्रोफ़ेशनल सेटिंग में हैं? यह आफ़िस पर  काम हो सकता है, ऑफिस के बाद सबका मिलना, एक या सम्मेलन/कॉनफ़रेन्स। यहाँ तक कि आपके घर को भी एक पेशेवर सेटिंग माना जा सकता है, अगर लोग आपके घर से काम कर रहे हों।

अगर जवाब हाँ है, तो हम आपको सलाह देते हैं कि सावधानी से आगे बढ़ें, या फ़िर कोई भी कदम उठाने से बचें, मौखिक या अन्यथा।

इस समय आप शायद कह रही  हैं, “मैं अपना पूरा दिन और जीवन कार्यालय में बिताती हूँ। अगर मैं कार्यालय में आकर्षक लोगों की दिशा में कोई कदम नहीं उठाती हूँ, तो मैं ब्रह्मचारी बन के रह जाऊंगी।”   

बात तो पते की है, लेकिन धैर्य रखिए और पढ़ते रहिए।

क्या आप इस व्यक्ति की बॉस हैं?

अगर जवाब हाँ है, तो आगे बिल्कुल मत बढ़िए। ना अब, ना  ‘कमज़ोरी के एक पल’ में या कोई ‘गहरी भावनाओं भरे पल’ में। बस, मत बढ़िए!

यहाँ तक कि अगर आप दूसरे व्यक्ति की ड़िरेक्ट बॉस नहीं हैं, तो क्या आपके पास उनके रोज़गार के बारे में निर्णय लेने की क्षमता है? यदि जवाब हाँ है, आगे ना बढ़ें।

क्या आपका कोई सम्बन्ध उनके भविष्य के दूसरे संघठन से है ? निवेशक,लेखा परीक्षक, अहम् ग्राहक,सलाहकार आदि के तौर पे …..फिर जवाब,  नहीं है |उदाहरण के लिए आप प्रोफेसर है जिसे M.phil छात्रों का वाइवा करवाने के लिए बुलाते हैं ,क्या दूसरा व्यक्ति M.phil या M.A  का छात्र है ?अगर आपका जवाब हाँ है तो, आप जानती हैं, क्या करना है | अदब से मुस्कुराइए और आप अभी जो महसूस कर रही हैं, उसे निगल जाईए|क्या आप कॉलेज में है? तीसरी पार्टी 18 साल से बड़ी है ?ठीक है ,तीसरी पार्टी आपका छात्र है ? अभी भी आपके लिए उत्तर ना ही होगा |

क्या दूसरी पार्टी आपका सीनियर या जूनियर है ? तो फिर आपका जवाब हाँ है, अब आप दूसरे चरण की तरफ आगे बढ़ें  |

क्या आप एक ही स्तर के सहकर्मी है,विशेष रूप से एक दुसरे के भविष्य पर आपका कोई  अधिकार नहीं है , अगर आपका जवाब हाँ है तो आप सीधा दूसरे स्तर पे जा सकतें हैं|

आप शादी में है ,पार्टी या दोस्त के घर पे हैं ?आपका जवाब हां है तो आप सीधा दूसरे स्तर पर जा सकतें हैं|

आप टिंडर/क्यूपिड ऐप्प पर हैं तो आप स्टेज 2 पर सीधा पहुँच सकती हैं |

अगर व्यक्ति ने पी रखी हो? तो आपको जवाब पता है :ना

अगर व्यक्ति सो रहा हो या आधी नींद में हो फिर : ना

अगर बिजली चली गयी, और आप पूरी तरह अनजान हैं तो चुप रहिये और मोमबत्ती ढूंढिए, सीधे छलांग मत लगाइये सिर्फ इसलिए नहीं कि आप कुछ देख नहीं सकतीं|अगर आप पूरी तरह एक दुसरे के लिए अनजान नहीं हैं तो, मोमबत्ती जलाइए और सीधा दुसरे स्तर पे  चले जाईए |

अगर कोई आपको कहता है कि उसकी पत्नी ,गर्लफ्रेंड या कोई और उसकी ज़िन्दगी में है तो  आगे कदम उठाना सही नहीं है |

अगर आप जानते हैं कि वो गे/ समलैंगिक हैं, शायद उन्होने ज़िक्र किया हो, या आपने किसी वजह से यह समझा हो ,  फिर आगे ना बढ़ें|

स्तर २ – कैसे करें 

पहला कदम ये है कि पास आएं, नहीं, नहीं सिर्फ उनकी लंबी पलकों पर आश्चर्य करने नहीं, इतनी पहल करने के लिए, जहाँ वो आपको सुन सकें |

अगर आपने उनसे पहले बात नहीं की  है,उन्हें दूर से ही सराहा है, तो आप किसका इंतजार कर रहे हैं ? और उन्हें कैसे पता चलेगा कि आप कितनी दिलचस्प और अच्छी इंसान हैं?

हो सकता है आपको फ़ोन या टेक्स्ट पे बात करना ज्यादा आसान लगे, वो ठीक है |ये आपके बीच की मित्रता को और गहरा करता है और आपकी कुछ झिझक को दरकिनार  भी करता है |साथ ही इमोजी भी है आपकी मदद के लिए , चाहे जो भी संचार का साधन आप चुनें , बस आप  बात करना शुरू कीजिये |

क्या आपको जा कर खुद का परिचय करवाना मुश्किल लगता है ? दोस्त किसलिए होते हैं, आपकी प्यार की दास्ताँ में मदद करने के लिए और बाद में मजाक उड़ाने क लिए ?सबसे आसान तरीका है, अपने उस दोस्त को बोलो जो आप दोनों का दोस्त हो, उससे बात करने के लिए…ये इस से तो बहतर है कि आप एक अंजान लव नोट उसे भेज दें, बिन अपना परिचय दिए, वो भी ऐसे दोस्त के हाथ जो उसे जानता नहीं. ये तो- चीप होगा.

एक बार जब आपका परिचय हो जाये तो,उसके बाद आपको क्या अच्छा लगता है, किससे ख़ुशी मिलती है आप उस  विषय पे बात करें,ये उन्हें आपका परिचय देगा  और जब लोग अपनी पसंद कि बात करते हैं तो उनकी आँखों में अलग ही चमक नज़र आती है, तब वो आपके दिलचस्प भाग को और भी दिलचस्पी से  देखते हैं |

अगर आमने सामने बात करना आपका स्टाइल है, टेक्स्टिंग से ज्यादा,तो आपका लक अच्छा है, ये आपके रास्ते खोल देता है, संयोग से होने वाले शारीरिक स्पर्श के लिए| इसका मतलब ये नहीं है कि उनकी गोद में जा कर बैठ जाओ और सीधा आँखों में देखने लग जाओ……..आप जानते हो, कैसुअल | उसका हाथ पकड़ें,कलाई पकड़ें,बाहँ पकड़ें या कन्धा सिर्फ बातों ही बातों में,फिर देखें वो किस तरह प्रक्रिया देते हैं, फिर आगे बढ़ें |

या आप खुले संकेत वाले बयान दे सकते हैं| ऐसे एक या दो  बयान जो उन्हें कोई संकेत दें, वो बयान इतने साफ़ नहीं होने चाहिए कि लगे आपने अपने सारे पत्ते मेज पर रख दिए हैं| बहुत सारे लोगों को ये यूँ करना अच्छा लगता है क्योंकि  ये उन्हें तब शर्मिंदगी से बचाता है, जब मालूम पड़ता है कि सामने वाले के दिल में वैसी कोई भावना नहीं|

अगर ये आपकी धीमी चाल आपकी नाव नहीं चला पाती है, तो आपको सीधा कदम बढ़ाना चाहिए और उसे बता देना चाहिए कि आपको उनपे क्रश है और उनसे पूछिए कि वो क्या महसूस करते हैं और कारतूस से लदी बन्दूक समान कुछ कर डालिए  जिससे वो प्रभावित हो जाएँ, जैसे बार से उनके के लिए, ड्रिंक खरीद कर दें|

स्तर 3 – कैसे ना करें

हम जानते हैं, इंकार सहन करना मुश्किल है,कभी कभार इंकार आपको महसूस करवाता है कि अगर आप अपने प्यार पर बने रहेंगी तो ऐसा करने से उनके विचार बदल  जाएंगे |दृढ़ महसूस करना ज्यादा आसान है,अवसाद महसूस करने से| ये उस व्यवहार का नतीजा है जो शुरू में आक्रामक और अभद्र नहीं दिखता है, लेकिन निश्चित रूप से वो  ऐसा ही है | इसके सामान्य प्रकार क्या  है ?

1. टेक्सटुअल क्रीपी ( लगातार मैसेज करके परेशान करने वाली ) – आप सुबह शुभ प्रभात के सन्देश  रोज भेजते हो,आप सब तरह के सन्देश रोज भेजते हो, हमेशा रोमांटिक सन्देश नहीं,कभी शारीरिक सम्बन्ध के सन्देश भी नहीं| अगर वो कभी आपको जवाब नहीं देता तो आपको वहीँ रुक जाना चाहिए |

2. नए युग की क्रीपी – जब लड़का आपको कह देता है कि वो आपके लिए कुछ महसूस नहीं करता है| यूँ लगता है , उसे कुछ वक़्त चाहिए ,शायद टेक्स्ट,चैट,मिलने से थोड़ा सा आराम ? ठीक है |अगर आपको लगता है इसकी अभी आवश्यकता है,  आगे बढ़ो और उसे उसका स्पेस दो,  और उसकी भावनाओं कि इज़्ज़त करो | इसकी कोई जरुरत नहीं है कि आप  उसे अपने नए इरादों का विवरण दो और उसे अपने दूर होने के प्लान के बारे में  भी मत बताओ  जिस से हालात हर तरीके से बहतर हो जाएँगे..क्योंकि दूसरे व्यक्ति को बार बार ये बताना कि आप उसे जगह-स्पेस- दे रहे हो, ये सच में उसे स्पेस देने जैसा नहीं है |

3. शुद्ध देसी क्रीपी -मैंने आपके लिए हलवा बनाया है,सोमवार का व्रत रखा है,मेरी मम्मी ने हेलो बोला है ,अगर किसी ने आपको ‘ना’ बोल दिया है तो वो आपसे हलवा या आपकी माँ से हेलो नहीं सुनना चाहते हैं |आप जो कुछ भी कर रहे हैं, वो काम नहीं करने वाला है,असल में ये थोड़ा अजीब  है और अगर उसे अजीब लग रहा है उन सब से जो आप कर रहे हैं, इसमें मैं सौ प्रतिशत उसको भी गलत नहीं मानती|और किसी लड़के के लिए भूखे रहने कि कोई जरूरत नहीं है, अगर आप उसका ख्याल रखना चाह रही हैं तो अपने दिमाग में रखो|चलिए,कायनात के हाथों छोड़ देते हैं  उसे |

4. उत्सुक क्रीपी – “क्यों लेकिन क्यों बताओ मुझे ” जब लड़का आपको मैसेज भेजता है कि वो आपको पसंद नहीं करता है, उसे सच में ये नहीं बताना होगा कि क्यों नहीं करता है |हो सकता हो ये एक वाइब सी छोटी बात हो, या कोई याद, या उसे यूँ लगे की आप दोनों की नहीं जमेगी|  जो भी हो, इसका मतलब ये नहीं है कि हर पांच मिनट बाद आप उसे ‘क्यों-क्यों’ पूछ कर परेशान करेंगी |

5. शक्तिशाली और क्रीपी -“मैं एक शक्तिशाली महिला हूँ और तुम शक्तिशाली महिलाओं को पसंद नहीं करते हो “ये सही हो सकता है,अगर वो शक्तिशाली महिला को पसंद नहीं करता है, तो वो सच में उनको- नहीं पसंद करता है | वो अब आपकी ओर इस लिए नहीं झुक जाएगा क्योंकि आपने उसे उसकी ग़लती का अहसास करा दिया है..|एक बार जब ‘ना’ आपकी तरफ आ जाता है, तो आपको उसे उसका  चरित्र मूलयांकन देने की कोई ज़रूरत नहीं है |अगर कोई लड़का आपको पसंद नहीं करता है तो इसका मतलब ये नहीं है कि वो अच्छा लड़का नहीं है या नारी विरोधी है या कोई लड़का जो आप जैसी शक्तिशाली नारी को झेल नहीं सकता – हो सकता है वो यूँ हो| चाहे जो भी हो,वो आपके लिए सही लड़का नहीं है |

 

ये सब बहुत मुश्किल है, आपने सोच समझ कर, या फिर जोश मैं आ कर इश्क़ की पहल की… और जिस जोशीले जवाब के लिए मन तरस रहा था.. की ‘हाँ, हज़ार बार हाँ’- वो नहीं मिला | लेकिन अगर आप थोड़ी देर के लिए इंकार के साथ रह सकती हैं और निराशा गुज़रने दें, तो आप फिर से इश्क़ पाएँगी, किसी और के साथ, किसी और दिन |

You may also like

Comments

comments

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *